बदरीनाथ धाम के कपाट बंद के साथ आज होगा चारधाम यात्रा का समापन...

बदरीनाथ धाम के कपाट आज शाम 5 बजकर 13 मिनट पर शीतकाल के लिए बंद कर दिए जाएंगे और इसी के साथ चारधाम यात्रा का समापन भी हो जाएगा। दोपहर डेढ़ बजे सायंकालीन पूजा होगी, जबकि अपराह्न तीन बजे से कपाट बंद होने की प्रक्रिया शुरू हो जाएगी। इसके लिए मंदिर को गेंदे के फूलों से सजाया गया है।



कपाट बंद होने की प्रक्रिया के तहत शनिवार को मुख्य पुजारी ईश्वरी प्रसाद नंबूदरी ने माता लक्ष्मी की विशेष पूजा करने के बाद लक्ष्मी जी का आह्वान किया। आज कपाट बंद होने से पहले माता लक्ष्मी को भगवान बदरीनाथ के मंदिर में विराजमान किया जाएगा।


सैकड़ों श्रद्धालु शनिवार को बदरीनाथ धाम पहुंच गए-
इस दौरान कड़ाई भोग का आयोजन किया गया। कपाट बंद होने के दौरान शामिल होने के लिए सैकड़ों श्रद्धालु शनिवार को बदरीनाथ धाम पहुंच गए। बदरीनाथ धाम के धर्माधिकारी भुवन चंद्र उनियाल ने बताया कि आज प्रात:कालीन चार बजे अभिषेक पूजा करने के बाद भगवान बदरीविशाल के कपाट दिनभर श्रद्धालुओं के लिए खुले रहेंगे। शाम पांच बजकर 13 मिनट पर कपाट बंद कर दिए जाएंगे।


वन मंत्री ने नृसिंह मंदिर और बदरीनाथ के दर्शन-
वन मंत्री हरक सिंह रावत ने शनिवार को जोशीमठ स्थित नृसिंह मंदिर में दर्शन किए। इसके बाद वे बदरीनाथ धाम के लिए रवाना हो गए। वह दोपहर करीब डेढ़ बजे बदरीनाथ मंदिर पहुंचे और दर्शन किए। इस दौरान बदरीनाथ केदारनाथ मंदिर समिति के अध्यक्ष मोहन प्रसाद थपलियाल, ऋषि प्रसाद सती, भगवती प्रसाद, नितेश चौहान, कुलदीप कठैत सहित कई भाजपा कार्यकर्ता मौजूद थे।


Popular posts