राज्यमंत्री समाज कल्याण ने राजकीय आश्रम पद्धति विद्यालय, छात्रावास, वृद्धा आश्रम का किया औचक निरीक्षण

रायबरेली। उत्तर प्रदेश के समाज कल्याण, अनुसूचित जाति एवं जनजाति कल्याण, राज्य मंत्री डॉ. जीएस धर्मेश ने अधिकारियों को निर्देश दिये है कि शासन की मंशा के अनुसार अपने कार्यो को लक्ष्य के अनुरूप पूर्ण करें तथा समाज कल्याण व अनुसूचित जाति एवं जनजाति कल्याण की लाभ परक योजनाओं को जन-जन में पहुचाकर पात्र लाभार्थियों को लाभान्वित करने में आगे आये। राज्यमंत्री ने अधिकारियों को पीडब्ल्यूडी गेस्ट हाउस में विभाग से सम्बन्धित अन्य निर्देश दिये तथा कार्यो की समीक्षा बैठक भी की।



इससे पूर्व राज्यमंत्री डॉ. जीएस धर्मेश ने शेषपुर समौधा बछरावा के राजकीय आश्रम पद्धति विद्यालय और छात्रावास तथा आईटीआई स्थित वृद्धा आश्रम का औचक निरीक्षण किया। एटीएस विद्यालय के निरीक्षण के दौरान छात्रों को रोजमर्रा की सामग्री समय समय से न मिलने पर गम्भीर दिखें जिसके लिए स्टोर कीपर को तत्काल हटाने तथा उसका चार्ज समाज कल्याण अधिकारी को देने के निर्देश दिये।


तीन टीचर्स अनुपस्थित पाये जाने पर भी गम्भीर दिखें तथा उन्हें चेतवानी भी दी और निर्देश दिये कि 9ः45 बजे तक सभी टीचर्स की उपस्थिति अनिवार्य है। राजकीय आश्रम पद्धति आश्रम में विद्यालय तोड़े जाने, बिजली व्यवस्था की जानकारी ली तथा विद्यालय की साफ-सफाई की व्यवस्था के उचित निर्देश दिये।


राज्यमंत्री ने वृ़द्धा आश्रम के निरीक्षण की फीडबैंक जानकारी वृद्धों से प्राप्त की समाज कल्याण विकास अधिकारी सुनीता सिंह के भी कार्यो की भी जानकारी ली। समाज मुख्यमंत्री सामूहिक विवाह, आर्थिक सहायता, वृद्धावस्था पेंशन, छात्रवृत्ति आदि के सम्बन्ध में जानकारी ली तथा उचित दिशा निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि 14 नवम्बर को मुख्यमंत्री सामूहिक विवाह योजनान्तर्गत 351 जोड़ों की शादी की जानी है जिसमें किसी भी प्रकार की किसी भी स्तर पर शिथिलता न बरती जाये। पंजीकरण का कार्य समय से पूरा करा लें। इस मौके पर एसडीएम सदर शशांक त्रिपाठी, तहसीलदार सविता यादव सहित अन्य कर्मचारी उपस्थित रहे।


रिपोर्ट-रत्नेश मिश्रा


Popular posts