मुख्यमंत्री सामूहिक विवाह योजना के तहत जिले के पात्रजनों को लाभान्वित कराएं-डीएम

एटा। जिला समाज कल्याण अधिकारी एस.पी. सिंह ने सूचित किया है कि अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति, अन्य पिछडा वर्ग, अल्पसंख्यक वर्ग एवं सामान्य वर्ग के व्यक्तियों के पुत्रियों की शादी हेतु सामूहिक विवाह के लिये "मुख्यमंत्री सामूहिक विवाह योजना" समाज कल्याण विभाग के अन्तर्गत संचालित किये जाने का निर्णय लिया गया है। योजनान्तर्गत रूपये 35,000 की धनराशि कन्या के बैंक खातें में, रूपये 10,000 की वैवाहिक सामग्री कपडे, बिछिया, पायल चांदी के तथा सात बर्तन एवं रूपये 6,000 विवाह कार्यक्रम आयोजन में पण्डाल, फर्नीचर, भोजन, जलपान, पेयजल,विद्युत प्रकाश एवं अन्य व्ययस्था हेतु शासन द्वारा कुल 51,000 प्रत्येक जोडे हेतु बजट का प्राविधान किया गया है।

समाज कल्याण अधिकारी एसपी सिंह ने बताया कि योजनान्तर्गत शीघ्र ही वैवाहिक कार्यक्रम हेतु तिथियों का निर्धारण कर जनपद स्तर पर भव्य कार्यक्रम माननीय जनप्रतिनिधि एवं जिला प्रशासन के सहयोग से सम्पन्न कराया जायेगा। कार्यक्रम हेतु जोडो का चयन किया जा रहा है। इस येजना का लाभ लेने के लिये आवेदन की वार्षिक आय 2,00,000 वार्षिक से कम हो। कन्या की उम्र 18 वर्ष अधिक हो। वर की उम्र 21 वर्ष से अधिक हो। आवेदक जनपद का मूल निवासी हो। इच्छुक पात्र व्यक्ति अपने विकास खण्ड से सम्बंधित खण्ड विकास अधिकारी, नगर पालिका एवं नगर पंचायत के अधिशाषी अधिकारी, जिला पंचायत कार्यालय में अपर मुख्य अधिकारी जनपद स्तर पर स्थित कार्यालय जिला समाज कल्याण अधिकारी से सम्पर्क कर आवेदन पत्र समस्त औचारिकताएं पूर्ण कराने के उपरान्त आवेदन जमा कर सकतें है। आवेदन पत्र के साथ आय प्रमाण पत्र, रूपये दो लाख मात्र वार्षिक सीमा तक आधार कार्ड, वर कन्या का पासपोर्ट आकार का फोटोग्राफ, सलग्न करना अनिवार्य है।


रिपोर्ट-अनंत मिश्रा