युवराज सिंह ने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट को कहा अलविदा


भारतीय क्रिकेटर युवराज सिंह ने आज अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट को अलविदा कह दिया। आज भी वो हारा नहीं है, बस रफ्तार और उम्र के फेर में शायद थोड़ा पीछे रह गया। एक फाइटर जिसने मैदान पर भी हर मैच को जंग की तरह लिया और भारत को दो विश्व कप जिताने में अहम भूमिका निभाई, फिर जब शरीर पर हुए वार (कैंसर) से लड़कर लौट आया।


मीडिया के जरिए देश की जनता द्वारा उनको दिए गए अपने संदेश में युवराज ने सालों के प्यार के लिए शुक्रिया कहा और देश की जर्सी में अबतक जो कुछ भी किया उसे कभी भुलाया नहीं जा सकेगा। युवी के अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास लेने के बाद भारत का यह शेर अब मैदान पर कभी भी दहाड़ते नहीं दिखाई देगा


युवराज ने अपने करियर की शुरुआत सौरव गांगुली की कप्तानी में साल 2000 में नैरोबी में की थी। तब केन्या के खिलाफ पदार्पण वनडे मुकाबले में उनकी बैटिंग नहीं आई थी। युवी ने अपना आखिरी वनडे दो साल पहले 30 जून 2017 को वेस्टइंडीज के खिलाफ खेला था।