ये 4 योगासन सुधारेंगे आपका बिगड़ा हुआ मूड



आजकल की भागती दौड़ती जिंदगी में खुद को तंदरुस्त आपके मूड को ठीक रखने के लिए ये चार योगासनों आपके मूड को चुटकी में ठीक कर सकते हैं। आइये देखें कौन से हैं यह चार आसन।।।


चक्रासन : व्‍हील पोज यानी चक्रासन करने के लिए आपको सिर्फ अपने घर के फ्लोर पर एक योगा मैट यानी चटाई बिछानी है। ध्‍यान रहे कि यह चटाई जमीन पर फिसलने वाली ना हो। ऐसी चटाई पर आपको सबसे पहले पीठ के बल लेटना है। इसके बाद अपने हाथों को सर के बगल में रखते आपको अपने पैरों को सिकोड़ते हुए आगे लाना है। इसके बाद आप बस अपने हाथों और पैरों के दम पर अपने पेट को ऊपर की ओर उठाना है। जरूरी यह है कि आप ऐसा करते हुए अपने शरीर को हाफ व्‍हील में बदल दें। 

शीर्षासन : हेडस्‍टैंड या शीर्षासन पहले-पहल थोड़ा कठिन आसन लग सकता है लेकिन इस आसन को करने से आपके दिमाग की एक खास नस प्रभावित होती है। पहले पहल तो शीर्षासन करते ही आपके शरीर के ब्‍लड का प्रवाह दिमाग की ओर होने लगता है। इस आसन को करने के लिए आपको सबसे पहले किसी दीवार से सर लगाकर पेट के बल लेटना है। इसके बाद धीरे-धीरे अपने शरीर को मोड़ते हुए पूरे शरीर का वजन हाथों पर लेते हुए सर के बल खड़े हो जाना है। ऐसा करते वक्‍त आपके शरीर का पूरा भार आपकी हथेलियों पर होना चाहिए।

 

बकासन : क्रो पोज यानी बकासन करने से आपके दिमाग में भरे नकारात्‍मक विचार बारह निकलना शुरु हो जाएंगे। इसके लिए आपको सिर्फ मैढक की तरह बैठना है। इसके बाद हथेलियों पर अपने शरीर का वजन डालते हुए घुटनों को कोहनियों के ऊपर रख दें। 

 

उत्तानासन : फॉरवर्ड बेंड यानी उत्तानासन आपके शरीर की मांसपेशियों को स्‍ट्रेच करता है जिससे आप रिलेक्‍स महसूस करते हैं। इसके लिए आपको अपने पैर फैलाकर खड़ा होना है। इसके बाद गहरी सांस लेते हुए अपने हाथों को फैला दें। ऐसा करके आप इस आसन के लिए पूरी तरह तैयार हो जाएंगे। आपको बस आप सांस छोड़ते हुए धीरे-धीरे अपनी ऐड़‍ियों को अपने हाथों को छूना है।