उपचार के अभाव में दुर्घटना में घायल महिला ने तड़प तड़प कर दम तोड़ा

फिरोजाबाद। थाना टूण्डला क्षेत्र गांव पिपरौली निवासी राकेश सिंह अपनी पत्नी रचना व दो वर्षीय बेटी अनन्या को बाइक से टूण्डला दवा लेने आ रहा था। इसी दौरान थाना पचोखरा क्षेत्र मार्ग पर किसी बस ने टक्कर मार दी। जिसमें राकेश की मौके पर ही मौत हो गयी। जबकि पत्नी रचना व अनन्या गंभीर घायल हो गयी।


आनन फानन में दोनों को ट्रामा सेंटर में लाया गया, लेकिन इलाज के अभाव में महिला ने दम तोड़ दिया। जानकारी के मुताबिक महिला को काफी चोट होने के कारण ब्लीडिंग भी हो रही थी। महिला काफी देर तक तड़पती रही, उसकी गंभीर हालत देखते हुये प्राथमिक उपचार देने के बाद उसे तुरंत आगरा रेफर नहीं किया गया।


अगर समय रहते ही महिला को पर्याप्त उपचार मिल जाता तो शायद उसकी जान बच सकती थी। ड्यूटी पर तैनात चिकित्सक अमिताभ चौहान का कहना था महिला को हेड इन्ज्वायरी थी। सिर में काफी चोट थी, एम्बुलेंस को 11 बजकर 49 मिनट पर फोन किया था, लेकिन एम्बुलेंस समय पर नहीं पहुंची। हमारी तरफ से कोई लापरवाही नहीं की गई।


वहीं सरकारी ट्रामा सेंटर पहुंचे 108 एम्बुलेंस पायलट अमित का कहना था अगर मरीज को तुरंत ट्रीटमेंट दिया जाता तो ब्लड नहीं बहता। एम्बुलेंस में रखने के बाद भी महिला का ब्लड चल रहा था बाकी मेरे प्राइवेट नंबर पर फोन किया गया था अगर सरकारी नंबर पर फोन किया जाता तो तुरंत पहुंचता।


बहरहाल इस प्राइवेेेट और सरकारी नंबर के खेल ने एक महिला की जिंदगी को छीन लिया, उसका जिम्म्मे्मे कौन है? यह एक यक्ष प्रश्न है!


रिपोर्ट-फरमान 'बबलू'