समाधान दिवस को गम्भीरता से लें अधिकारी : नेहा शर्मा 



  • सम्पूर्ण समाधान दिवस में विधायक, डीएम व एसपी ने सुनी फरियादियों की समस्याएं 


रायबरेली। जिलाधिकारी नेहा शर्मा ने निर्देश दिये है कि आयोजित सम्पूर्ण समाधान दिवस को अधिकारी गम्भीरता से लें तथा शिकायतों का निस्तारण गुणवत्ता युक्त तरीके से करें ताकि फरियादियों को बार-बार तहसील आदि में न आना पड़े। उन्होंने कहा, सम्पूर्ण तहसील समाधान दिवस, थाना दिवस आदि प्रदेश सरकार की शीर्ष प्राथमिकताओं वाले कार्यक्रमों में से एक है। जिसे अधिकारी संवेदनशीलता व गम्भीरता से लेकर समस्याओं का निराकरण समयबद्ध गुणवत्तायुक्त तरीके से करें।

 

जिलाधिकारी नेहा शर्मा ने कहा कि यदि किसी प्रकरण में जांच आदि की जरूरत हो तो अवश्य करें। छोटी-छोटी समस्याओं, विवादों को भी गम्भीरता से लें। समस्याओं का समय से निराकरण न होने के कारण बड़ा विवाद का रूप लेता है। अतः समस्याओं को तत्काल निराकरण करना सुनिश्चित करें। जिलाधिकारी ने यह भी निर्देश दिये कि 17 ग्राम पंचायत अधिकारियों को जांच करने का कार्य दिया गया है। वह सात दिनों के अन्दर जांच कर अपनी रिपोर्ट 12 जून तक डीपीआरओ के यहां प्रस्तुत कर दें अन्यथा दण्डात्मक कार्यवाही के लिए तैयार रहें।

 

विधायक राम नरेश रावत, जिलाधिकारी नेहा शर्मा व पुलिस अधीक्षक सुनील कुमार सिंह एवं मुख्य विकास अधिकारी राकेश कुमार ने महराजगंज में आयोजित जनपद स्तरीय सम्पूर्ण समाधान दिवस पर फरियादियों की समस्या को सवेदनशीलता के साथ सुना और उनके निराकरण के निर्देश सम्बन्धित अधिकारियों को दिये। जिलाधिकारी व पुलिस अधीक्षक को बसकटा की एक युवती ने फरियाद करने हुए बताया कि उसका चाचा घर के चारों तरफ गेहूँ पराली लगाकर रास्ता जामकर परेशान कर रहे है, इस पर पुलिस अधीक्षक ने सम्बन्धित थाने के थानाध्यक्ष को निर्देश दिये कि प्रकरण की जांच कर परेशान करने वाले के विरूद्ध विधिक कार्यवाही करें। केसरखेड़ा के एक बुजुर्ग ने फरियाद की कि जमीन के मुकदमें में जीत हो गई है। परन्तु दबंग लोग कब्जा करने की फिराक में लगे हुए है। पाण्डेयपुरवा सलैथू के एक फरियादी ने कहा कि परिवारिक समस्या होने के कारण गांव के बुजुर्ग आदमी को परिवार के लोग परेशान कर रहे हैं। जिस पर जिलाधिकारी ने सम्बन्धित अधिकारियों को निर्देश दिये कि परिवारिक मामले को संवेदनशीलता के साथ निस्तारण करें।  

 

इस मौके पर राजस्व, बिजली, लोक निर्माण, डीएसआ आदि विभागों की प्राप्त शिकायतों को सम्बन्धित अधिकारियों को तत्काल निराकरण करने के निर्देश दिये। डीएफओ तुलसीदास शर्मा, उप जिलाधिकारी शालिनी प्रभाकर एवं तहसीलदार,  एसीएमओ, एडी सूचना प्रमोद कुमार आदि जनपद स्तरीय अधिकारी भी उपस्थित रहे।