प्रदेश की योगी सरकार अवैध शराब की बिक्री पर रोक लगाने में नाकाम : रोहित अग्रवाल


लखनऊ। युवा रालोद के राष्ट्रीय प्रवक्ता रोहित अग्रवाल ने कहा कि प्रदेश की योगी सरकार द्वारा बुधवार को मद्यनिषेध दिवस मनाया गया जोकि मात्र एक ढकोसला साबित हुआ है। रालोद प्रवक्ता ने कहा कि मुख्यमंत्री स्वयं को योगी बताते हैं और उसके बावजूद प्रदेश में अवैध शराब का करोबार धडल्ले से चल रहा है। प्रदेश भर में नकली शराब से लोगों की मौतें हो रही है, जबकि इस मामले में प्रदेश की भाजपा सरकार बिल्कुल मौन है। प्रदेश में भाजपा सरकार आने के बाद से आबकारी विभाग का रेवन्यू बढ़ाकर 33 हजार करोड़ करने का लक्ष्य रखा गया है, जोकि पूर्ववर्ती सरकार में 16000 करोड रूपया था। 


श्री अग्रवाल ने कहा कि बडे दुख की बात है कि हमारे देश के प्रधानमंत्री उस राज्य के तीन बार मुख्यमंत्री रह चुके हैं जिसमें 1960 से शराब प्रतिबन्धित है और गुजरात माॅडल के नाम पर पूरे देश में सरकार बनाई उसके बावजूद देश को शराब के जहर से मुक्त कराने के लिए कोई भी ठोस कदम नहीं उठाया जा रहा है। रालोद प्रवक्ता ने कहा कि हमारे राष्ट्रपिता महात्मा गांधी ने कहा था कि जो राष्ट्र शराब की आदत का शिकार है, विनाश उसकी ओर मुंह बाए खड़ा रहता है। उन्होंने सरकार से मांग करते हुये कहा कि अवैध शराब के कारोबारियों पर नकेल कसी जाय। जिससे शराब के कारण हो रही मौतों पर अंकुश लगाया जा सके। इसके साथ ही उन्होंने आज की युवा पीढी से अपील करते हुए कहा कि शराब विनाश का कारण है इसका बहिष्कार करना चाहिए।