पूर्व सीजेआई Lodha हुए ऑनलाइन फ्रॉड के शिकार


ऑनलाइन लेन-देन के तौर-तरीकों ने भले ही जीवन को आसान बना दिया हो, लेकिन इसके ठगी के मामलों की संख्या दिन-ब-दिन बढ़ती ही जा रही है। आजकल पूरे देश में रोजाना ऑनलाइन ठगी के कई मामले सुर्खियों में रहते हैं। इस बार सुप्रीम कोर्ट के पूर्व चीफ जस्टिस लोढ़ा (Former CJI RM Lodha) भी ठगी के शिकार होने से नहीं बच पाए।


सुप्रीम कोर्ट के ही सेवानिवृत्त जस्टिस बीपी सिंह की ई-मेल आईडी हैक कर जालसाजों ने उनसे एक लाख रुपये ठग लिए। मालवीय नगर थाना पुलिस ने मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। दक्षिण जिला पुलिस अधिकारियों के अनुसार मामले की तफ्तीश को जल्द ही साइबर सेल को सौंप दिया जाएगा। दक्षिण जिले के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि सेवानिवृत्त सीजेआई (चीफ जस्टिस ऑॅफ इंडिया) आरएम लोढ़ा परिवार के साथ एस-ब्लॉक, पंचशील पार्क में रहते हैं।


उन्होंने शिकायत दी कि उनकी आधिकारिक मेल आईडी पर 19 अप्रैल को दोपहर करीब 1.40 बजे उनके परिचित सुप्रीम कोर्ट से सेवानिवृत्त जस्टिस बीपी सिंह की आधिकारिक मेल आईडी से एक ई-मेल आया। इसमें बताया कि उनके भतीजे को खून से संबंधित गंभीर बीमारी है और उपचार के लिए फिलहाल एक लाख रुपये से ज्यादा की जरूरत है। मांगी गई राशि को किसी सर्जन के बैंक खाते में जमा करवाने को कहा। इस पर पूर्व सीजेआई लोढ़ा ने अपने दो बैंक खातों से करीब एक लाख रुपये सर्जन के बैंक खातें में ट्रांसफर कर दिए। 30 मई को जब पूर्व जस्टिस बीपी सिंह ने उनको मेल किया तो पता लगा कि उनके साथ ठगी हुई है।


उन्होंने किसी तरह की आर्थिक सहायता मांगने की बात से इंकार किया। पूर्व सीजेआई ने लोढ़ा ने बताया कि पूर्व जस्टिस की ई मेल आईडी को किसी ने हैक कर लिया था और उन्होंने मेल पर विश्वास कर अज्ञात के खाते में रुपये जमा करवा दिए। पुलिस जांच में यह बात सामने आई है कि रुपये दिनेश माली नाम के व्यक्ति के खाते में पैसे ट्रांसफर किए गए थे। वह कौन है इसका पता अभी नहीं चल पाया है। बता दें कि जस्टिस लोढ़ा 41वें चीफ जस्टिस रहे हैं और सिंतबर 2014 में रिटायर हुए थे। बीसीसीआई के रिफॉर्मेशन में भी इनका योगदान रहा है।