ऊंचाहार रेलवे स्टेशन पर यात्रियों की सुरक्षा राम भरोसे, ड्यूटी के दौरान सोता मिला जीआरपी कर्मी



रायबरेली। ऊंचाहार रेलवे स्टेशन पर बने जीआरपी चौकी में राम भरोसे नौकरी काटने का मामला प्रकाश मेंआया है, जिसमें यात्रियों की सुरक्षा करने वाले पुलिस कर्मी बैरक में नही बल्कि ड्यूटी के दौरान चौकी में उस वक्त सोते मिले जब पीडब्लूवाई ब्रजभूषण सिंह किसी कार्य से गए थे।

 

बताते चले कि ऊंचाहार रेलवे स्टेशन पर तीन प्लेटफार्म है।जिसमे प्लेटफार्म नंबर एक पर जीआरपी पुलिस चौकी बना हुआ है।जिस चौकी में मंगलवार के दिन दोपहर के समय जब एकाएक पीडब्लूवाई ब्रजभूषण सिंह व एके सिंह दोनो पहुंचे तो वहां पर ड्यूटी करने वाले सिपाही अराम से चौकी का दरवाजा खोलकर फर्राटा भरते नजर आए। जिनके हालात सोने के ऐसे थे कि कोई उनके अभिलेख व अन्य कोई सामग्री यदि चोरी कर ले जाए तो उनके पास कोई कानो कान खबर नही होता हलाकि ये बात की बात है।

 

जिन लोगों पर लखनऊ से प्रयागराज व दिल्ली से प्रयागराज की ओर आने जाने वाली ट्रेनों के यात्रियों की सुरक्षा की जिम्मेदारी रहती है अगर वही लोग इस तरह से ड्यूटी करेंगे तो आप ही समझ सकते हैं कि सुरक्षा व्यवस्था का क्या हाल होगा, चौकी इंचार्ज से लेकर अन्य स्टाप भी गायब दिखा? जिसके बारे में सटीक जानकारी देने वाला कोई नही था। उधर पीडब्लूवाई ने प्रकरण की शिकायत फोटो के साथ उच्चाधिकारियो से करने की बात कही है। स्टेशन अधीक्षक राम सुमेर ने बताया कि जीआरपी को नौकरी के समय सोना नही चाहिए, यदि ऐसा किया है तो उसकी जांच करके कार्यवाही हेतु विभागीय लिखापढ़ी किया जाएगा।

 

रिपोर्ट-रत्नेश मिश्रा