मोदी सरकार ने किसान से लेकर व्यापारी तक को दिया ‘रिटर्न गिफ्ट’

मोदी सरकार की पहली कैबिनेट बैठक खत्म हो होतेेे ही सरकार ने जनता के लिए उपहारों की झड़ी लगा दी। पीएम मोदी की अध्यक्षता में हुए इस कैबिनेट बैठक में नरेंद्र मोदी ने सरकार का पहला बड़ा फैसला लेते हुए नेशनल डिफेंस फंड के तहत पीएम स्कॉलरशिप योजना में बड़ा बदलाव करते हुए आतंकी और माओवादी हमलों में मारे गए शहीद जवानों के बच्चों की छात्रवृत्ति बढ़ा दी।


इसके अलावा अब 3 करोड़ किसानों को हर महीने 2 हजार रुपए मिलेंगे। यानी अब इस योजना का लाभ देश के करीब 15 करोड़ किसानों को मिलेगा। पहले इसके दायरे में सिर्फ 12 करोड़ किसान ही थे। बता दें कि इस योजना के तहत लाभार्थी किसान को साल में तीन बार कुल 6000 रुपए सीधे खाते में मिलेंगे।


प्रधानमंत्री किसान पेंशन योजना को मंजूरी


केंद्रीय मंत्रिमंडल ने एक नई केंद्रीय क्षेत्र योजना, प्रधानमंत्री किसान पेंशन योजना को मंजूरी दी है। यह देशभर के छोटे और सीमांत किसानों के लिए एक स्वैच्छिक और अंशदायी पेंशन योजना है। केंद्र सरकार पेंशन फंड में किसान द्वारा योगदान के बराबर राशि का योगदान करेगी। इसके अंतर्गत करीब 12-13 करोड़ किसानों को कवर किया जाएगा। सरकार पहले चरण में 5 करोड़ किसानों तक पहुंचेगी। 18 से 40 वर्ष तक की आयु केे किसान इस योजना से जुड़ सकेंगे। उन्हें 60 वर्ष पूरा करने के पश्चात 3000 रुपए मासिक पेंशन मिलेगी। अगर लाभ पाने वाले व्यक्ति की मौत हो गई, तो उसकी पत्नी को 50% रकम मिलती रहेगी। इस योजना पर 10 हजार करोड़ रुपए खर्च होंगे।


केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने कहा कि केंद्रीय मंत्रिमंडल ने व्यापारियों के लिए पेंशन योजना को मंजूरी दे दी है। इस फैसले से तीन करोड़ खुदरा व्यापारियों और दुकानदारों को फायदा होगा। मंत्रिमंडल ने नियंत्रण और पैर की बीमारी (एफएमडी) और ब्रुक्सोसिस के लिए एक विशेष योजना को मंजूरी दी है।