ममता ने तुड़वाया BJP दफ्तर का ताला, बनाया TMC का निशान

कोलकाता/पo बंगाल। बीजेपी और तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) के बीच विवाद खत्म होने का नाम नहीं ले रहा है। 'जय श्रीराम' को लेकर राज्य में सत्तारूढ़ दल तृणमूल कांग्रेस और भाजपा के बीच दिन-प्रतिदिन राजनीतिक तकरार बढ़ती जा रही है। इधर, अब दोनों के बीच एक दूसरे के पार्टी दफ्तरों पर कब्जा करने की मारामारी शुरू हो गई है। ममता बनर्जी खुद उत्तर 24 परगना जिले में स्थित बीजेपी दफ्तर का ताला तोड़ने पहुंची। उन्होेंने दावा किया है कि बीजेपी ने उनके दफ्तर पर कब्जा किया है।


ये घटना 30 मई की है जब पीएम नरेंद्र मोदी अपनी कैबिनेट के साथ दिल्ली में शपथ ले रहे थे, उसी समय बंगाल के उत्तर 24 परगना जिले में ममता बनर्जी धरने पर थीं। नैहाटी में रैली को संबोधित करने के बाद ममता भजापा के दफ्तर पर पहुंचीं। उन्होंने अपने सामने ताले तुड़वाए। उनके आदेश पर ऑफिस से भगवा रंग और कमल का निशान हटाया गया। ममता ने अपने सामने ही सफेदी पोतवाई। इसके बाद खुद दीवार पर अपनी पार्टी का चिन्ह पेंट किया और पार्टी का नाम भी लिखा।


बैरकपुर से BJP के नवनिर्वाचित सांसद अर्जुन सिंह के


यही नहीं ममता बनर्जी ने खुद दफ्तर की दीवारों पर अपनी पार्टी का चुनाव चिह्न पेंट किया और पार्टी का नाम लिखा, ममता का आरोप है कि टीएमसी के इस दफ्तर पर बीजेपी ने कब्जा कर लिया था लेकिन अब ममता की अगुवाई में टीएमसी ने फिर से इस दफ्तर पर अपना कब्जा जमा लिया है। टीएमसी का आरोप है कि बैरकपुर से बीजेपी के नवनिर्वाचित सांसद अर्जुन सिंह के निर्देश पर टीएमसी दफ्तर पर कब्जा किया गया था। उन्होंने कहा कि बीजेपी के लोग बाहर से गुंडों को बुला रहे हैं और इस तरह का काम कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि बीजेपी के गुंडे उन्हें लगातार गाली दे रहे हैं। लेकिन वो झुकने वाली नहीं हैं।