लालगंज : लव जिहाद मामले ने पकड़ा जोर,हिंदू समुदाय में भारी आक्रोश


लालगंज/रायबरेली। मुस्लिम युवकों द्वारा लालगंज नगर की लड़कियों को लव जिहाद के चक्कर में फंसा कर भगा ले जाने के मामले में हिंदू समुदाय के लोगों में भारी आक्रोश व्याप्त है। हिंदू संगठनों के नेताओं का कहना है कि अगर प्रशासन ने शीघ्र लड़कियों को बरामद नहीं किया तो हिंदुओं का आक्रोश सड़क पर उतर सकता है,जिसकी जिम्मेदारी पुलिस प्रशासन की होगी।


उल्लेखनीय है कि लालगंज नगर से बीते एक माह के अंदर जाति विशेष संप्रदाय के युवकों के द्वारा हिंदू युवतियों को लव जिहाद के चक्कर में फंसा कर गायब कर दिया गया।जिनमें पीड़ित पक्षों द्वारा लालगंज कोतवाली में मुकदमा भी पंजीकृत कराया गया है। रविवार को पान दरीबा निवासी एक व्यक्ति के द्वारा 5 लोगों के खिलाफ उसकी पुत्री के अपहरण के बाबत मुकदमा दर्ज कराया गया था, तो सोमवार को सराफा मंडी निवासी सतीश गुप्ता ने भी अपनी पुत्री के अपहरण के मामले में 5 मुस्लिम युवकों के खिलाफ नामजद मुकदमा दर्ज कराया है।


लालगंज पुलिस के ऊपर दोनों मामलों का खुलासा करने का दबाव बढ़ गया है। सोमवार को लालगंज के सैकड़ों व्यापारियों ने कोतवाली पहुंचकर प्रभारी निरीक्षक विनोद सिंह से मिलकर लड़कियों को बरामद किए जाने की गुहार लगाई है और कहा है कि अगर शीघ्र गायब लड़कियां बरामद नहीं की गई तो मुस्लिम लव जिहाद के खिलाफ सड़कों पर आंदोलन होगा। नाबालिक लड़कियों के गायब होने के मामले में पीड़ित पक्ष के द्वारा लालगंज के मोहम्मद आदिल, मोहम्मद अशफाक, मोहम्मद आरिफ ,मोहम्मद समीर व एक अन्य महिला के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया है। वहीं दूसरे मुकदमे में पीड़ित पक्ष द्वारा आसिफ, आदिल, आरिफ ,लालू और एक अन्य के खिलाफ अपहरण का मुकदमा लालगंज कोतवाली में पंजीकृत कराया है। उक्त दोनों मुकदमों के बाबत पुलिस चौतरफा हाथ-पैर मार रही है। जिसमें करीब 10 लोगों को पकड़कर पुलिस उन्हें हिरासत में पूंछतांछ करने में जुटी हुई है, लेकिन अभी तक पुलिस लड़कियों की सकुशल बरामदगी करवा पाने में नाकाम रही है।