केवल जुमलेबाजी और आंकड़ेबाजी पर काम कर रही है प्रदेश सरकार : डाॅ0 मसूद

लखनऊ। राष्ट्रीय लोकदल के प्रदेश अध्यक्ष डाॅ0 मसूद अहमद ने कहा कि प्रदेश सरकार के मंत्री भविष्य वक्ता न बने और विकास कार्यो को धरातल पर उतारकर जनता के सामने लायें। यद्यपि अभी तक प्रदेश की जनता द्वारा दिये गये जनादेश का भारतीय जनता पार्टी द्वारा अपमान ही किया गया है। प्रदेश के ग्राम्य विकास मंत्री 15 नदियों का पुर्नरूद्वार करने की बात कह रहे हैं जो किसी भी स्तर पर विश्वास के काबिल नहीं हैं क्योंकि प्रदेश की ही नहीं देश की महान और आस्था की नदी गंगा की सफाई का अभियान पूरे पांच वर्ष तक नहीं पूरा किया जा सका जबकि अरबों रूपये के बजट का बंदरबांट किया गया है। 


डाॅ0 अहमद ने कहा कि प्रदेश की दूसरी नदी गोमती भी पवित्र नदियों में है और वर्तमान सरकार के सवा दो साल के शासन में उसे गन्दे नालों से मुक्त नहीं किया जा सका और आज भी राजधानी के सभी गंदे नाले गोमती में गिर रहे हैं जल प्रदूषण बढा रहे हैं और सरकार अपनी नाक के नीचे सब देख रही है। चूंकि नदियों की सफाई का बजट नदियों की तलहटी में खर्च होता है जो जनता को केवल आकड़ों के रूप में देखने को मिलता है। यह स्थिति नहरों की सफाई की है जिसमें प्रतिवर्ष हजारों करोड का बजट खर्च होता है और नहरों की सिल्ट जैसी की तैसी मिलती है। 


रालोद प्रदेश अध्यक्ष ने कहा कि ऐसा लगता है कि जिस प्रकार लोकसभा चुनावों में देश की जनता से विकास के नाम पर आगे पांच साल मांगा गया उसी प्रकार पांच साल तक प्रदेश सरकार भी केवल जुमलेबाजी और आकडों पर काम करना चाहती है। आने वाले 12 विधानसभा के उपचुनावों में ही सरकार के विकास की पोल खुल जायेगी और एक भी सीट प्रदेशरीर की जनता भारतीय जनता पार्टी को जिताकर नहीं देगी।