कानपुर : उपचुनाव की दावेदारी के लिए भागदौड़ जारी

लोकसभा चुनाव में प्रदेश सरकार में कैबिनेट मंत्री सत्यदेव पचैरी को कानपुर से प्रत्याशी बनाया गया था। गोविन्द नगर से विधायक रह चुके सत्यदेव पचैरी के अब सांसद बनने के उपरान्त यह सीट उपचुनाव के लिए खाली हो गयी है। दूसरी तरफ भारतीय जनता पार्टी में गोविन्दनगर विधानसभा के उपचुनाव के लिए दावेदारों की दौड शुरू हो गयी है। इसके लिए दावेदारों की एक लम्बी लिस्ट तैयार है। इसमें ऐसे लोग भी है जिन्हे प्रमुख दावेदारों ने पूरी ताकत के साथ चुनाव लडाया था और चुनाव जीतने के बाद उपचुनाव के लिए सभी ने अपनी दावेदारी को मजबूती देना शुरू कर दिया है।


कानपुर उपचुनाव में टिकट पाने के लिए लखनऊ से लेकर दिल्ली तक की दौड लगायी जा रही है। सूत्रों की माने तो जिलाध्यक्ष भाजपा सुरेन्द्र मैथानी, भाजपा प्रदेश महामंत्री सलिल विश्नोई, क्षेत्रीय अध्यक्ष मानवेंद्र सिंह, सीसामऊ विधान से पिछला चुनाव हारे सुरेश अवस्थी, बसपा से भाजपा में आये निर्मल तिवारी, कांग्रेस से भाजपा में आये छात्र नेता मनोज सिंह व क्षत्रियों में बीच मजबूत पकड़ रखने वाले भाजपा नेता विवेक भदौरिया प्रमुख दावेदार माने जा रहे हैं। साथ ही कई और लोग अंदरखाने से अपनी दावेदारी मजबूत करने में जुटे हुए हैं, जबकि उनके समर्थक माहौल बनाने में जुटे है।


माना जा रहा है कि हाईकमान बहुत विचार-विमर्श के बाद ही प्रत्याशी का चयन करेगा। उधर पूर्व में कांग्रेस के पूर्व विधायक अजय कपूर ने चुनाव जीतकर इस विधानसभा में भाजपा का तिलिस्म तोड़ा था। उन्होने दो बाद भारी अंतर से जीत हासिल की थी। इसके बाद भाजपा से सत्यदेव पचैरी ने गोविन्दनगर से जीत दर्ज की। इस सीट से विधायक रहे अब सांसद बने सत्यदेव पचौरी के लोकसभा चुनाव जीतने के बाद यहां उपचुनाव होने हैं, ऐसे में दावेदारों के चयन पर विशेष ध्यान दिया जा रहा है। हलांकि सभी अपनी दावेंदारी के लिए कवायद कर रहे है लेकिन पार्टी आलाकमान उसी को प्रत्याशी बनायेगी जो योग्य और मजबूत प्रत्याशी होगा। कुछ लोगों का मानना है कि कोई नया नाम भी आ सकता है।


रिपोर्ट-योगेश अग्निहोत्री