जीएसटी संग्रह एक लाख करोड़ के ऊपर

नई दिल्ली। जीएसटी GST संग्रह इस वर्ष लगातार तीसरे महीने एक लाख करोड़ रुपये के ऊपर रहा है। वित्त मंत्रालय ने  एक बयान में कहा कि मई में जीएसटी संग्रह 1,00,289 करोड़ रुपये रहा। यह आंकड़ा ठीक पिछले महीने यानी अप्रैल से कम, लेकिन पिछले वर्ष इसी महीने में हासिल 94,016 करोड़ रुपये के मुकाबले 6.67 फीसद ज्यादा है।


इससे पहले इस वर्ष अप्रैल और मार्च में भी GST जीएसटी संग्रह का आंकड़ा एक लाख करोड़ रुपये के ऊपर रहा था। जीएसटी संग्रह के मामले में अब तक का रिकॉर्ड चालू वित्त वर्ष के पहले महीने यानी अप्रैल का रहा है।


वित्त मंत्रालय के आंकड़ों के मुताबिक मई में जीएसटीआर-3बी के 72.45 लाख सेल्स रिटर्न दाखिल किए गए। मंत्रालय ने कहा कि मई में हासिल जीएसटी में से सेंट्रल जीएसटी की हिस्सेदारी 17,811 करोड़ रुपये रही। स्टेट जीएसटी के मद में मई में 24,462 करोड़ रुपये जमा कराए गए, जबकि इंटिग्रेटेड जीएसटी की हिस्सेदारी 49,891 करोड़ रुपये रही।


मई में कारोबारियों ने सेस मद में 8,125 करोड़ रुपये का भुगतान किया। वित्त मंत्रालय के मुताबिक इस वर्ष फरवरी और मार्च महीनों के लिए राज्यों को जीएसटी कंपंसेशन के मद में 18,934 करोड़ रुपये का भुगतान किया। मई में सरकार ने आइजीएसटी में से सीजीएसटी के लिए 18,098 करोड़ रुपये, जबकि एसीजएसटी के मद में 14,438 करोड़ रुपये का नियमित सेटलमेंट किया है।