अलीगढ़ कांड : रालोद ने कैंडल मार्च निकालकर मासूम ट्विंकल को दिया श्रद्धाजंलि, आरोपियों के लिए की फांसी की मांग

लखनऊ। अलीगढ़ में मासूम बच्ची की जघन्य हत्या में प्रदेश में भाजपा सरकार की कानून व्यवस्था के मोर्चे पर बड़ी विफलता है। राज्य की योगी सरकार में पुलिस नकारा साबित हो चुकी है और अपराधियों के हौसले इतने बढ गये हैं कि वह राज्य के सत्तारूढ दल के गमछे व झण्डे का उपयोग कर अपराध को अन्जाम देकर समाज को भयभीत करने में कोई कसर नहीं छोड रहे हैं। यह बात मासूम बिटिया को श्रद्वांजलि अर्पित करने के लिए युवा राष्ट्रीय लोकदल द्वारा आयोजित कैंडल मार्च को सम्बोधित करते हुये युवा रालोद के प्रदेष अध्यक्ष अम्बुज पटेल ने व्यक्त करते हुये कही।


उन्होंने कहा कि मासूम के हत्यारों को फांसी देेने के साथ घटना की सीबीआई जांच तथा पीड़ित परिवार को विषेष सहायता प्रदान की जाय। प्रदेश कार्यालय से कैडिल मार्च निकालकर कार्यकर्ता गांधी प्रतिमा पर पहुचा, वहां मासूम बिटिया के चित्र पर पुष्पांजलि अर्पित कर श्रद्वांजलि अर्पित की गई। इस दौरान रास्ते भर कार्यकर्ता मासूम के हत्यारों को फांसी देेने की मांग के नारे लगा रहे थे।



कैडिल मार्च में राष्ट्रीय लोकदल के प्रदेश मीडिया प्रभारी जावेद अहमद, प्रदेश सचिव बीएल प्रेमी, रमावती तिवारी, प्रीति श्रीवास्तव, युवा रालोद के प्रदेश उपाध्यक्ष, अश्वनी प्रताप सिंह, प्रदेश महासचिव अनिल पटेल एवं अभिषेक बाजपेई, मीडिया प्रभारी मोनिका बिष्ठ, प्रदेश सचिव सुमित सिंह एवं सूरज सिंह, सुरजीत श्रीवास्तव, महानगर अध्यक्ष विनीत सिंह, प्रमोद शुक्ल, नवल सिंह यादव, अनुराग ब्रिजवाल, रजनीष मिश्रा, मनोज तिवारी, मनोहर मौर्या, श्रीमती रिजवाना, जिलाध्यक्ष बेला प्रसाद राजवंशी आदि रालोद नेता और कार्यकर्ता मौजूद रहे।