SN हॉस्पिटल संबंधित मांगों को लेकर डीएम से मिला यादव महासभा का प्रतिनिधि मंडल

फिरोजाबाद। जनपद फिरोजाबाद तहसील जब आगरा जनपद में थी तब फिरोजाबाद क्षेत्र की जनता को सस्ता व सुलभ इलाज दिलाने के लिए समाजसेवी हजारीलाल जैन द्वारा एक ट्रस्ट बनवा कर कई एकड़ जमीन अस्पताल के लिए दी थी। जिसमें एसएन हॉस्पिटल के नाम से सरकारी अस्पताल बनने से गरीब व मजदूरों को इलाज मिलना शुरू हुआ था। वर्ष 1989 से उसे जिला अस्पताल का दर्जा मिला।


ज्ञापन के माध्यम से जिलाधिकारी को अवगत कराते हुए यादव महासभा के अध्यक्ष डॉ. अवधेश यादव ने बताया कि, फिरोजाबाद में श्रमिक हितों की रक्षा के लिए ईएसआई हॉस्पिटल व मेडिकल कॉलेज तत्कालीन सांसद राज बब्बर द्वारा स्वीकृत कराया गया। इसी क्रम में पूर्ववर्ती सरकार द्वारा मेडिकल कॉलेज के लिए जमीन उपलब्ध कराई गई, इस पर भवन निर्माण के लिए अरबों रुपए धन स्वीकृत हुआ। भवन निर्माण के लिए जिस ठेकेदार को ठेका दिया गया उसमें स्थानीय विधायक व उसके सहयोगियों की हिस्सेदारी होने के कारण गुणवत्ता के अनुसार निर्माण नहीं किया जा रहा है।


जिला अस्पताल (एसएन हॉस्पिटल) सरकार द्वारा संचालित होने से जहां लाखों रुपए खर्च कर श्रमिक, गरीब व आमजन को इलाज का लाभ मिले इसी को दृष्टिगत रखते हुए जिला अस्पताल परिसर में महिला अस्पताल के लिए अलग से भवन निर्माण हुआ। इसके साथ ही आधुनिक सुविधा सहित सरकारी ट्रामा सेंटर का निर्माण हुआ। लोगों को समुचित स्वास्थ्य लाभ प्रदान करने के उद्देश्य से सरकारी धन से कई आधुनिक मशीनों को खरीदा गया,जो अभी तक चालू नहीं की जा सकी हैं। जिला अस्पताल (एसएन हॉस्पिटल) में कार्यरत तृतीय व चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी बिना उनकी सहमति लिए मेडिकल कॉलेज के कर्मचारी घोषित कर दिए गए एवं जिला अस्पताल (एसएन हॉस्पिटल) के स्थान को मेडिकल कॉलेज की घोषणा कर दी गई। जिसका तृतीय एवं चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी विरोध कर रहे हैं।


एसएन हॉस्पिटल कैंपस में कई एकड़ जमीन


विभिन्न समाचार पत्रों में छपी खबर के अनुसार 10 किलोमीटर दूर किसानों की जमीन अधिग्रहित कराने की प्रक्रिया स्थानीय विधायक व मुख्य चिकित्सा अधिकारी के द्वारा की जा रही है,जबकि वर्तमान जिला अस्पताल एसएन हॉस्पिटल कैंपस में कई एकड़ जमीन खाली पड़ी है। अभी दूरी कम होने के चलते पीड़ित गरीब,मजदूर व आमजन कम समय में इलाज के लिए अपने मरीज को अस्पताल में पहुंचा पाते हैं। स्थानीय विधायक, मुख्य चिकित्सा अधिकारी व मुख्य चिकित्सा अधीक्षक अपने निजी स्वार्थ के लिए अस्पताल को दूर स्थापित करके उनके स्वास्थ्य के साथ खिलवाड़ कर रहे हैं जिससे आम जनता में भारी रोष है।

ज्ञापन के माध्यम से मांग की गई कि मेडिकल कॉलेज का संचालन जिला अस्पताल एसएन हॉस्पिटल से न करा कर उसे अपने मेडिकल कॉलेज के भवन से कराया जाए। जिला अस्पताल एसएन हॉस्पिटल को उसी स्थान पर जहां कई एकड़ जमीन अभी खाली पड़ी है वहीं से संचालित कराया जाए, जो जनहित में है। जिला अस्पताल एसएन हॉस्पिटल तृतीय व चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी को पूर्ववत जिला अस्पताल का कर्मचारी रहने दिया जाए।


प्रतिनिधि मंडल दल में प्रमुख रूप से जिलाध्यक्ष डॉ. अवधेश यादव, प्रदेश उपाध्यक्ष अनवर सिंह यादव, प्रदेश महासचिव कमलेश यादव, विजय प्रकाश यादव पूर्व DGC, देवेन्द्र सिंह यादव, प्रवीण यादव, कृष्ण वीर सिंह यादव जिला उपाध्यक्ष, आकाश यादव जिला सचिव, एवरन सिंह यादव जिला कोषाध्यक्ष, विकास यादव, तनुज यादव,शिव नारायण यादव, रामनरेश यादव, आकाश यादव पोपेंद्र यादव जिला सचिव मुख्य रूप से शामिल रहे।


रिपोर्ट-फरमान 'बबलू'