NIRF द्वारा जारी अखिल भारतीय रैंकिंग-2019 में SGPGI को चौथा स्थान


लखनऊ। उत्तर प्रदेश के मुख्य सचिव डाॅ0 अनूप चन्द्र पाण्डेय ने आगामी पांच वर्षों 2019-23 के रोड मैप को मंजूरी प्रदान करते हुए निर्देश दिये कि आगामी 5 वर्षों में पीजीआई द्वारा इमरजेन्सी मेडिसिन सेण्टर रीनल ट्रांसप्लान्ट सेण्टर, रोबोटिक सर्जरी सेण्टर, मेडी इलेक्ट्राॅनिक्स एण्ड हेल्थ इनफारमेटिक सेण्टर ऑफ़ एक्सीलेन्स, इनडोर सेवाओं के विस्तार हेतु युद्ध स्तर पर कार्यवाही की जाए।


प्रथम स्थान के लिए किये जाएं प्रयास -मुख्य सचिव


उन्होंने नेशनल इन्स्टीट्यूट रैंकिंग फ्रेमवर्क (एनआईआरएफ) द्वारा जारी अखिल भारतीय रैंकिंग-2019 में एसजीपीजीआई को चौथा स्थान प्राप्त होने पर निर्देश दिए कि प्रथम स्थान प्राप्त करने हेतु सार्थक प्रयास सुनिश्चित किये जाएं। मुख्य सचिव एवं संजय गांधी आर्युविज्ञान संस्थान, लखनऊ के अध्यक्ष डाॅ0 अनूप चन्द्र पाण्डेय आज लोक भवन स्थित सभाकक्ष में सम्पन्न हुई पीजीआई संस्थान की 31वीं बैठक की अध्यक्षता कर रहे थे।



पेशेन्ट केयर सेवाओं के कारण


डाॅ0 पाण्डेय ने कहा कि संस्थान ने विगत वर्षों में अपनी गुणवत्ता पूर्ण पेशेन्ट केयर सेवाओं के कारण प्रदेश ही नहीं देश के चिकित्सा क्षेत्र में अपना विशिष्ट स्थान बनाया है। संस्थान रेफरेल नेटवर्क एवं मेडिसिन एवेयरनेस के कारण ही लोकप्रियता हासिल की है इसे कायम रखना होगा। बैठक में प्रमुख सचिव, चिकित्सा शिक्षा, रजनीश दुबे, संस्थान के निदेशक प्रो0 राकेश कपूर तथा केजीएमयू के नामित प्रतिनिधि मौजूद थे।