India ने भरी सफलता की उड़ान


नई दिल्‍ली। एयर डिफेंस मिसाइल आकाश- 1 एस का सफल परीक्षण कर भारत ने रक्षा क्षेत्र में एक महत्वपूर्ण कदम रखा। रक्षा अनुसंधान और विकास संगठन (डीआरडीओ) द्वारा तैयार की गई जमीन से हवा में मार करने वाली इस मिसाइल को इंडिजेनस सीकर फिट किया गया है। यह स्वदेशी तकनीक पर आधारित मिसाइल है। यह राडार आधारित विश्लेषण कर दुश्मन की मिसाइल को नष्ट करने का कार्य करती है।


Record स्तर पर बंद हुआ शेयर बाजार


भारत में आकाश- 1 एस का


भारत में आकाश- 1 एस का बीते दो दिनों में दूसरा सफल परीक्षण किया गया है। यह मिसाइल का नया वर्जन है जिसमें इंडिजेनस सीकर फिट किया गया है। यह डिफेंस यूनिट न सिर्फ मिसाइल हमले से देश की सीमाओं की रक्षा करने में सहायक होती हैं बल्कि किसी भी तरह के हवाई हमले को रोकने में सक्षम होती हैं।
दुश्मन की मिसाइल को रीड कर, राडार इसकी गति और इसकी दूरी का सही आंकलन करता है। इसके बाद इसकी जानकारी दूसरी यूनिट को भेज दी जाती है। दूसरी यूनिट से दुश्‍मन की मिसाइल को नष्‍ट करने के लिए मिसाइल दागी जाती है। जो कि दुश्मन के हमले को नाकाम कर देती है।